Hair Fall Tips and Treatment at Home in Hindi-बाल झड़ने से रोकने के लिए 20 आसान घरेलू उपाय

बालों के झड़ने का कारण

आजकल बाल झड़ना एक आम सी बात हो गई हैं।बच्चों से लेके नौजवान।यानि 10 से लेके 30 साल। पहले के ज़माने में 50 तक लोगों की बाल भी नहीं झड़ते थे. बाल झड़ने के अनेक कारण हो सकते हैं। उन करोणो में से प्रमुख कारणों के बारे में यहां बता रहे हैं, जो हमारी रोज़मर्रा की ज़िंदगी से जुड़े हैं, लेकिन हम उन्हें देख कर अनदेखा कर देते हैं।

1. तनाव या दबाब में रहना

बाल झड़ने की सबसे पहली और बड़े वजह तनाव है। कोई भी इस बजह को इनकार नहीं कर सकता कि इस समस्या की जड़ तनाव है। जो भी ब्यक्ति तनाव की गिरफ्त में आ जाता है , उसे अनेक प्रकार के स्वास्थ्य समस्याएं शुरू हो जाती हैं। अभी तक हुईं ज्यादातर रिसर्च में भी यह बात स्पष्ट हुई है कि तनाव के चलते हमारे बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं।

Also Read:Blood Donation Benefits-रक्तदान लाभ

2.आनुवंशिक या वंशानुगत

बालों के झड़ने एक प्रमुख और मुख्य कारण आनुवंशिक है, जिसे अंग्रेजी में एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया कहा जाता है । अमेरिका अकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी का मानना है कि बाल झड़ने के पीछे सबसे बड़ा कारण आनुवंशिक होता है। अगर आपके फॅमिली मेंबर को यह समस्या रह चुकी है, तो संभवत: आपको भी इसका सामना करना पड़ सकता है।

3. हार्मोन में बदलाव

महिलाओं में मेनपॉज होने, गर्भावस्था की स्थिति में या थायराइड होने पर शरीर में हार्मोन बदलने लगते हैं। इस कारण से भी बाल झड़ सकते हैं।

4.असंतुलित भोजन खाना

आज कल खान पान का ध्यान कोई नहीं रखता। खानपान में ध्यान न बरतने से भी बाल कमज़ोर होकर गिरने लगते हैं। यह समस्या ज़्यादातर उन लोगों के साथ होती है, जो घर के खाना से बहार के जंक फूड खाना ज्यादा पसंद करते हैं। बहार में मिलने वाली जंक फूड में ऐसा कोई पौषक तत्व नहीं होता, जो हमारी स्वस्थ व बालों के लिए अच्छा हो। इसके अलावा, यह समस्या उन्हें भी होती है, जो खानपान में संतुलन नहीं बनाकर रखते यानी नियमानुसार भोजन नहीं करते। समय पर न खाना इसकी और एक वजह हो सकता है।

Also Read:Health Awareness-स्वास्थ्य जागरूकता

5.केमिकल युक्त उत्पादों का प्रयोग

बाल काटने पर या आजकल सैलून में जाकर विभिन्न तरह के हेयर ट्रिटमेंट करवाना फैशन का हिस्सा बन गया है। लोग सोचते है अगर बालों में रंग न लगवाए तो वो सुन्दर नहीं लगेंगे , लेकिन हम यह भूल जाते हैं कि इन सब प्रकिया में केमिकल युक्त उत्पादों का प्रयोग किया है। ये उत्पाद किसी भी लिहाज़ में हमारे बालों के लिए सही नहीं हैं। इनके उपयोग से हम गंजे तक हो सकते हैं,क्यों की इस सब चीज़ में केमिकल मिलाया जाता है।

6. डैंड्रफ या बालों की रूसी

आज कल हर किसी में डैंड्रफ समस्या पाया जाता है। अगर इसे समस्या को गंभीरता से न लिया जाए, तो इसके कारण सिर पर जगह-जगह मोटी परत बननी शुरू हो जाती है। यह परत सफेद, सिल्वर या फिर लाल रंग की हो सकती है। इसे सोराइसिस यानी त्वचा संबंधी रोग कहा जाता है और इसी कारण बाल टूटकर गिरने लगते हैं। ये समस्या ज्यादातर बाल साफ़ न करने की वजह से होता है।

7. प्रोटीन की कमी

बालों को बढ़ाने के लिए विटामिन की बहोत जरुरत होता है । हमारे बाल प्रोटीन के कारण बनते, बढ़ते और मज़बूत होते हैं। बालों के लिए इस प्रोटीन को केराटिन कहा जाता है। अगर हमारे भोजन में प्रोटीन की कमी होती है, तो बाल कमज़ोर होने लगते हैं। जिसके बजह से बाल रूखे और बेजान होकर टूटने लगते हैं।

8. एनीमिया या रक्ताल्पता

महिलाओं में रक्त की कमीआम है, जिसके कारण महिलाओं में एनीमिया का विकास होता है। ऐसा भोजन में आयरन की कमी के कारण होता है। आयरन की कमी के कारण शरीर में पर्याप्त मात्रा में लाल रक्त कोशिकाएं नहीं बन पाती हैं। ये लाल रक्त कोशिकाएं हैं, जो पूरे शरीर में ऑक्सीजन की आपूर्ति करके ऊर्जा प्रदान करने में मदद करती हैं। ऑक्सीजन की कमी के कारण, बालों को बढ़ने के लिए आवश्यक पोषक तत्व नहीं मिलते हैं और टूटने लगते हैं।

Also Read:Health and Family Welfare-स्वास्थ्य और परिवार कल्याण

इनके अलावा, बुढ़ापा, थायराइड और विटामिन-बी6 व फोलिक एसिड की कमी से भी बालों के झड़ने की समस्या हो सकती है।

अब हम बात करते हैं बाल झड़ने के घरेलू उपायों के बारे में, जिनकी मदद से हमारे बाल काले, घने व लंबे हो जाएंगे।

बाल झड़ने से रोकने के घरेलू इलाज – Home Remedies for Hair Fall in Hindi

1. नारियल का दूध

सामग्री :

  • एक कप नारियल का दूध

बनाने की विधि :

  • नारियल के दूध को अपने सिर पर लगाएं।
  • इसके बाद सिर को कपड़े से ढक दें और करीब 20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • अब कपड़े को हटाकर बालों को ठंडे पानी से धो लें।
  • अंत में बालों को शैंपू से साफ कर लें।

कब करें इस्तेमाल :

इस प्रक्रिया को आप हफ़्ते में एक बार कर सकते हैं।

इस तरह है फ़ायदेमंद :

नारियल के दूध में प्रचुर मात्रा में विटामिन-ई और वसा होता है, जो बालों को मैश करता है और उन्हें स्वस्थ बनाता है। इसके अलावा, इस दूध में प्रोटीन, खनिज और अन्य आवश्यक तत्व होते हैं, जो बालों को बढ़ने में मदद करते हैं। नारियल के दूध को सिर पर लगाने से बालों के झड़ने की समस्या को कम किया जा सकता है। इसी तरह, ये सभी पोषक तत्व नारियल के तेल में भी मौजूद होते हैं, जो बालों को जड़ से मजबूत बनाते हैं।

2. नीम

सामग्री :

  • 10-12 नीम की सूखी पत्तियां
  • पानी से भरा बर्तन

बनाने की विधि :

  • नीम की पत्तियों को पानी में तब तक उबालें, जब तक कि पानी आधा न रह जाए।
  • इसके बाद पानी को ठंडा होने दें।
  • अब बालों को इस पानी से धो लें।

कब करें इस्तेमाल :

जब भी आप शैंपू करें इस मिश्रण से बालों को ज़रूर धोएं। अगर यह संभव हो, तो हफ़्ते में एक बार कर सकते हैं।

ऐसे है लाभकारी :

नीम में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो डैंड्रफ से लड़ने में मदद करता है। इसके अलावा, यह खोपड़ी को साफ करता है और बालों को बढ़ने में मदद करता है। नीम रक्त प्रवाह को संतुलित रखता है, जिसके कारण बालों की जड़ों को पर्याप्त पोषण मिलता है और बाल मजबूत बनते हैं। यह सिर की जूँ को मिटाने में भी कारगर है।

नोट : नीम मिश्रित पानी आंखों के लिए हानिकारक है। इसलिए नीम के पानी से सिर धोते समय इस बात का ख्याल रखें कि यह पानी आंखों में न जाए।

Also Read:Health And Physical Education-स्वास्थ्य और शारीरिक शिक्षा

3. मेथी

सामग्री :

  • दो चम्मच मेथी के बीज
  • चार चम्मच दही
  • एक अंडा

या फिर

  • एक कप मेथी के बीज

बनाने की विधि :

प्रक्रिया नंबर-1

  • मेथी के बीज को रात भर के लिए पानी में भिगोकर रख दें
  • अगली सुबह, इन बीजों का पेस्ट बना लें।
  • अब इसमें थोड़ा पानी डालकर मिक्स कर लें।
  • बाद में इसमें दही और अंडे का सफ़ेद हिस्सा मिला लें।
  • अब इस पेस्ट को अपने बालों पर लगाएं।
  • करीब आधे घंटे बाद पानी से बालों को धो लें।

प्रक्रिया नंबर-2

  • मेथी के बीजों को पानी में डालकर रातभर के लिए छोड़ दें।
  • अगली सुबह, इन्हें पीसकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस पेस्ट को बालों की जड़ों से लेकर ऊपरी छोर तक लगाएं और शॉवर कैप से सिर को ढक लें।
  • करीब 40 मिनट बाद ठंडे पानी से सिर को धो लें।

कब करें इस्तेमाल :

बाल झड़ने के इस घरेलू उपाय का आप महीने में एक या दो बार प्रयोग कर सकते हैं।

इस तरह है फ़ायदेमंद :

मेथी के बीज बालों को बढ़ने और बालों के रोम को फिर से बनाने में मदद करते हैं। इसके अलावा, वे बालों को मजबूत और लंबा करते हैं और उन्हें एक प्राकृतिक चमक देते हैं।

4. अंडा

सामग्री :

  • दो अंडे

बनाने की विधि :

प्रक्रिया नंबर-1

  • दोनों को तोड़कर एक कटोरे में रखें।
  • अंडे से जर्दी अलग करें।
  • अब अंडो को गाढ़ा होने तक मिलाएं।
  • इस पेस्ट को हेयरब्रश की मदद से अपने स्कैल्प और बालों पर लगाएं।
  • सिर को शॉवर कैप से ढक लें।
  • करीब 20 मिनट बाद बालों को ठंडे पानी से धो लें ।

कब करें इस्तेमाल :

हफ़्ते में कम से कम दो बार इस्तेमाल करें।

ऐसे है लाभकारी :

अंडे में प्रोटीन, विटामिन-बी, बायोटिन और आवश्यक पोषक तत्व होते हैं, जो बालों के लिए फायदेमंद होते हैं।

5. प्याज़ का रस

सामग्री :

  • एक प्याज़
  • एक कॉटन बॉल

बनाने की विधि :

प्रक्रिया नंबर-1

  • प्याज़ को पीसकर उसका रस निकाल लें।
  • अब इसमें रूई को डुबाकर, रस को बालों की जड़ों से लेकर ऊपरी छोर तक लगाएं।
  • करीब आधे घंटे बाद बालों को ठंडे पानी से धो लें और बाद में शैंपू भी करें।

कब करें इस्तेमाल :

आप इस मिश्रण को हफ़्ते में एक बार अपने बालों पर लगा सकते हैं।

किस प्रकार है लाभकारी :

प्याज में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो खोपड़ी पर संक्रमण फैलाने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करता है। इसके अलावा, प्याज में सल्फर के उच्च स्तर पाए जाते हैं, जो बालों को बढ़ने में मदद करता है, जिससे बालों के रोम में रक्त का प्रवाह बेहतर होता है।

Also Read:Importance of Health-स्वास्थ्य का महत्व

नोट : बालों में प्याज का रस लगाते समय इस बात का ध्यान रखें कि अगर यह रस आंखों में चला गया है, तो आपको चिढ़ हो सकती है। इसलिए बालों में रस लगाते समय और बाद में सिर धोते समय सावधान रहें।

6. मुलेठी

सामग्री :

  • एक चम्मच मुलेठी का पाउडर
  • एक कप दूध
  • एक चम्मच केसर

बनाने की विधि :

  • मुलेठी पाउडर व केसर को दूध में डालकर मिक्स कर लें।
  • रात को सोने से पहले इस मिश्रण को सिर पर उस जगह लगाएं, जहां से बाल उड़ चुके हैं।
  • अगली सुबह, सिर को अच्छी तरह से धो लें।

कब करें इस्तेमाल :

इसे हफ़्ते में दो बार सिर पर लगाएं।

इस तरह है लाभकारी :

मुलेठी में ऐसे लाभकारी तत्व होते हैं, जो सिर से खुजली और रूसी को पूरी तरह से हटा देते हैं। साथ ही बालों के विकास में मदद करता है।

7. ग्रीन टी

सामग्री :

  • दो टी बैग्स (ग्रीन टी)
  • दो-तीन कप गर्म पानी

बनाने की विधि :

  • दोनों टी बैग्स को गर्म पानी में डाल दें और पानी के ठंडा होने तक का इंतज़ार करें।
  • टी बैग्स को बाहर निकालकर, पानी से बालों को धो लें।
  • साथ ही सिर की मसाज करें।

कब करें इस्तेमाल :

जब भी आप शैम्पू करते हैं, तो आप बाद में इसे कंडीशनर के रूप में उपयोग कर सकते हैं।

कैसे करेगा फ़ायदा :

ग्रीन टी बालों के रोम छिद्र को उत्तेजित करती है, जिससे उन्हें बाल उगने में मदद मिलती है। इसके अलावा, यह चयापचय को भी बढ़ाता है, जो बालों को पोषण देने में मदद करता है।

8. चुकंदर

सामग्री :

  • चुकंदर के कुछ पत्ते
  • दो चम्मच मेहंदी
  • आधा कप चुकंदर का रस

बनाने की विधि :

  • एक बर्तन में दो कप पानी डालकर गर्म करें और उसमें चुकंदर के पत्ते डाल दें।
  • पानी को तब तक उबालें, जब तक कि पानी आधा न रह जाए।
  • अब पत्तियों को निकालकर पीस लें और उनका पेस्ट बना लें।
  • पेस्ट में मेहंदी और चुकंदर का रस अच्छे से मिला लें।
  • अब बालों को हल्का-सा गीला करके, ब्रश की मदद से यह पेस्ट बालों पर लगाएं।
  • करीब 20-30 मिनट बाद बालों को धोकर शैंपू कर लें।

कब करें इस्तेमाल :

आप इसे हफ़्ते में तीन-चार बार इस्तेमाल कर सकते हैं।

क्यों है फ़ायदेमंद :

चुकंदर में पोटेशियम, प्रोटीन और विटामिन-बी व सी होता है। ये सभी गुण स्वास्थ बालों के लिए बेहतर ज़रूरी हैं ।

Also Read:केला की पोषण और स्वास्थ्य लाभ-Banana Nutrition and Health Benefits

9. हिबिस्कुस पाउडर

सामग्री :

  • 10 चाइनीज़ हिबिस्कुस फूल
  • 2 कप शुद्ध नारियल तेल

बनाने की विधि :

प्रक्रिया नंबर-1

  • चाइनीज़ हिबिस्कुस फूल को नारियल के तेल में मिलाकर गर्म कर लें।
  • जब फूल अच्छी तरह से जल जाएं, तो तेल को अलग कर लें।
  • इस तेल को हर रात सिर व बालों पर लगाए और अगली सुबह धो लें।

प्रक्रिया नंबर-2

  • चाइनीज़ हिबिस्कुस फूल को अच्छी तरह से मसल दें और नारियल तेल में मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट को सिर व बालों पर लगाए और कुछ घंटों बाद धो लें।

कब करें इस्तेमाल :

एक महीने के लिए सप्ताह में दो या तीन बार बालों के झड़ने की दवा के रूप में आपको इस घरेलू उपाय का उपयोग करना चाहिए।

कैसे है लाभकारी :

चीनी हिबिस्कस फूल में विटामिन सी, फॉस्फोरस और राइबोफ्लेविन जैसे पोषक तत्व होते हैं, जो मुलायम और लंबे बालों के लिए आवश्यक हैं। यह फूलों के जीवाश्म को नष्ट करने में भी सक्षम है, जो बालों को बढ़ने में मदद करता है।

10. आंवला

सामग्री :

  • 4-5 आंवला
  • एक कप नारियल तेल

बनाने की विधि :

  • आंवले को नारियल तेल में तब तक उबालें, जब तक कि तेल काला न हो जाए।
  • जब तेल ठंडा हो जाए, तो इससे सिर व बालों की मालिश करें।
  • इसके करीब 20-30 मिनट बाद शैंपू से सिर धो लें।

कब करें इस्तेमाल :

इसे हफ़्ते में दो बार बालों पर लगाया जा सकता है।

कैसे करता है फ़ायदा :

आंवला को विटामिन-सी का प्रमुख स्रोत माना गया है। विटामिन-सी न केवल बालों को अच्छी ग्रोथ देता है, बल्कि उन्हें मजबूती भी देता है। विटामिन-सी कोलेजन के निर्माण में भी मदद करता है, जो बलों के विकास के लिए आवश्यक है। इसके अलावा, यह आयरन को अवशोषित करता है, जो बालों को स्वस्थ रखता है। यही नहीं, आंवला बालों को समय से पहले सफ़ेद होने से रोकता है। नियमित रूप से आंवले का नियमित उपयोग बालों के रोम को मजबूत करता है।

11. हिना

सामग्री :

  • एक कप हिना पाउडर
  • आधा कप दही

बनाने की विधि :

  • दोनों सामग्रियों को एक बर्तन में डालकर मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को अपने बालों पर लगाकर छोड़ दें।
  • जब बाल सूख जाएं, तो पानी से धोकर शैंपू कर लें।

कब करें इस्तेमाल :

इसे आप महीने में एक बार अपने बालों पर लगा सकते हैं।

कैसे है लाभकारी :

यह पूरी तरह से प्राकृतिक बालों का रंग और कंडीशनर है। इसके उपयोग से बाल सुंदर, स्वस्थ और मजबूत बनते हैं। यह भारतीय इतिहास में वर्षों से एक आयुर्वेदिक दवा के रूप में उपयोग किया जाता है।

12. नारियल तेल

सामग्री :

  • एक-दो चम्मच नारियल का तेल

बनाने की विधि :

  • तेल को हल्का गर्म करके एक कटोरी में डाल लें।
  • अब इस तेल को सिर पर लगा, हल्के हाथों से सिर व बालों की जड़ों में मालिश करें।
  • मालिश के बाद या तो आप आधे घंटे बाद सिर धो लें या फिर इसे रात को लगाकर अगली सुबह शैंपू कर सकते हैं।

कब करें इस्तेमाल :

इससे हफ़्ते में एक या दो बालों की मालिश कर सकते हैं।

बालों के लिए है लाभकारी :

नारियल तेल में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो बालों को मज़बूती प्रदान करते हैं और प्राकृतिक सुंदरता देते हैं ।

13. एलोवेरा

सामग्री :

  • एलोवेरा के कुछ पत्ते

बनाने की विधि :

  • एलोवेरा के पत्तों को गर्म पानी में डालकर उबाल लें और फिर उन्हें पीसकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब बालों को धोकर, पेस्ट को बालों पर अच्छे से लगाएं।
  • इसके बाद, हल्के हाथों से सिर की मालिश करें।
  • करीब 15 मिनट बाद बालों को ठंडे पानी से धो लें।

कब करें इस्तेमाल :

इसे हफ़्ते में तीन दिन लगा सकते हैं। बेहतर होगा कि इसे सुबह नहाते समय लगाएं।

कैसे होता है फ़ायदा :

एलोवेरा सिर और बालों में मौजूद पीएच स्तर को संतुलित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह बालों और खोपड़ी के अंदर जाकर काम करता है और बालों को झड़ने और गिरने से रोकता है।

14. नींबू का रस

सामग्री :

  • एक चम्मच दही
  • दो चम्मच नींबू का रस

बनाने की विधि :

  • इन सामग्रियों को एक कटोरी में अच्छे से मिला लें।
  • बालों को धोने से पहले इसे सिर पर हल्के हाथों से लगाएं।
  • करीब आधे घंटे बाद शैंपू से सिर को धो लें।

कब करें इस्तेमाल :

इसे मिश्रण को हफ़्ते में एक-दो बार लगा सकते हैं। इसे लगाने से बाल झड़ने बंद हो जाते हैं।

ऐसे है लाभकारी :

नींबू में अल्फा-हाइड्रॉक्सी एसिड होता है, जो मृत कोशिकाओं को हटाता है और रूसी को भी जड़ से खत्म करता है। नींबू में पर्याप्त मात्रा में विटामिन-सी होता है, जो बालों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है। नींबू बालों के रोम को टाइट करता है, जिससे बालों का गिरना कम होता है।

नोट : नींबू में एसिड होता है, जो आंखों के लिए अच्छा नहीं है। इसलिए जब भी नींबू से बने किसी भी मिश्रण को सिर पर लगाएं तो आंखें बंद कर लें। इसके अलावा, नींबू के रस से बने मिश्रण का लगातार इस्तेमाल न करें, क्योंकि इससे बाल सूख सकते हैं।

15. दही

सामग्री :

  • एक कटोरी दही
  • थोड़े से मेथी के दाने

बनाने की विधि :

  • मेथी के दानों को मिक्सी में पीस लें।
  • अब इस पाउडर को दही में डालकर मिक्स कर लें।
  • इस मिश्रण को सिर व बालों पर लगाएं और हल्के हाथों से सिर की मालिश करें।
  • करीब 20 मिनट बाद गुनगुने पानी से बालों को धोकर, शैंपू कर लें।

कब करें इस्तेमाल :

इसे हफ़्ते में एक या दो बार सिर पर लगाया जा सकता है।

इस तरह है फ़ायदेमंद :

दही को सबसे अच्छा प्राकृतिक कंडीशनर माना जाता है। इसे लगाने से बाल न केवल मुलायम बनते हैं, बल्कि यह एक प्राकृतिक चमक भी देते हैं। इसके अलावा, दही में प्रोटीन पाया जाता है, जिससे बाल जड़ से मजबूत, लंबे और लंबे होते हैं। दही विटामिन डी और बी 5 में समृद्ध है, जो स्वस्थ बालों के लिए आवश्यक हैं।

16. आलू

सामग्री :

  • एक आलू
  • एक चम्मच शह
  • एक चम्मच पानी

बनाने की विधि :

  • आलू को धोने के बाद, उसका छिलका उतार लें।
  • इसे छोटे टुकड़ों में काट लें और मिक्सी में पीसकर गाढ़ा पेस्ट बना लें। पेस्ट बनाने के लिए थोड़ा-सा पानी भी डाल सकते हैं।
  • इसके बाद पेस्ट को मलमल के कपड़े में डालकर निचोड़ लें।
  • निचोड़ने से जो रस निकलेगा, उसमें शहद और पानी डालकर मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को अपने सिर व बालों पर लगाएं।
  • करीब 30 मिनट बाद शैंपू से बाल धो लें।

कब करें इस्तेमाल :

इसे हफ़्ते में एक बार बालों पर लगाएं।

इसलिए है लाभकारी :

आलू में पोटैशियम, पोटैशियम, विटामिन सी और आयरन पाया जाता है। बालों की देखभाल के लिए, ये सभी तत्व आवश्यक हैं। विशेष रूप से पोटेशियम की कमी के कारण, बाल बाहर गिरने लगते हैं।

17. करी पत्ता

सामग्री :

  • थोड़ी-सी हरी करी पत्तियां
  • एक कटोरी दही

बनाने की विधि :

  • करी की ताज़ी हरी पत्तियों को पानी डालकर पीस लें।
  • अब इस पेस्ट में दही मिला दें।
  • इस मिश्रण को सिर व बालों पर लगाने के बाद मालिश करें।
  • करीब 25 मिनट बाद शैंपू से सिर धो लें।

कैसे करें इस्तेमाल :

इसे हफ़्ते में एक बार लगा सकते हैं।

इस तरह है फ़ायदेमंद :

करी पत्ते में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं। यह बालों के लिए टॉनिक का काम करता है। इसके अलावा, यह एंटी फंगल व एंटी इंफ्लेमेटरी के तौर पर भी काम करता है ।

18. धनिया का रस

सामग्री :

  • एक कप कटी हुईं धनिये की पत्तियां
  • तीन-चार चम्मच पानी

बनाने की विधि :

  • धनिये के पत्तों को पानी के साथ पीसकर पेस्ट बना लें।
  • इसके बाद पेस्ट में से रस निकाल कर, हेयर डाय ब्रश के जरिए सिर व बालों पर लगाएं।
  • करीब एक घंटे बाद शैंपू कर लें।

कब करें इस्तेमाल :

आप हफ़्ते में दो-तीन बार सुबह नहाने से पहले इसे सिर पर लगा सकते हैं।

कैसे करता है फ़ायदा :

धनिया बालों को मुलायम करता है और उन्हें टूटकर गिरने से रोकता है। साथ ही साथ, यह बालों को बढ़ने में भी मदद करता है।

19. शिकाकाई

सामग्री :

  • शिकाकाई
  • एलोवेरा
  • आंवला
  • नीम पाउडर

बनाने की विधि :

  • इन सभी सामग्रियों को एक समान मात्रा में लेकर मिलाएं और पेस्ट बना लें।
  • अब मिश्रण को अपने सिर और बालों पर लगाएं।
  • थोड़ी देर बाद बालों को गुनगुने पानी से धो लें और शैंपू ज़रूर करें।

कब करें इस्तेमाल :

इस घरेलू उपचार को बाल झड़ने की दवा के रूप में महीने में दो बार इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसके फ़ायदे :

शिकाकाई के प्रयोग से सिर में होने वाली खुजली व जलन से आराम मिलता है। इसके अलावा, यह बालों की जड़ों में जाकर पोषक तत्व प्रदान करता है और डैंड्रफ को खत्म करता है।

20. शहद, जैतून का तेल व दालचीनी

सामग्री :

  • शहद
  • जैतून का तेल
  • दालचीनी

बनाने की विधि :

  • इन सभी सामग्रियों को एक बर्तन में डालकर मिक्स कर लें।
  • इस पैक को सिर व बालों पर लगाकर थोड़ी देर के लिए छोड़ दें।
  • फिर बालों को पानी से धोकर, शैंपू कर लें।

कब करें इस्तेमाल :

इसे हफ़्ते में एक बार लगाया जा सकता है।

कैसे है लाभप्रद :

यह हेयर पैक बालों को उचित मॉश्चराइज़र प्रदान करता है। साथ ही बालों को बढ़ने में मदद करता है।

अब तक हम उन सभी घरेलू उपचारों के बारे में बात कर रहे थे जिनके द्वारा हम स्वस्थ, मुलायम और घने बाल पा सकते हैं। अब, हम उन खाद्य पदार्थों के बारे में बात करेंगे, जिनके सेवन से बालों को पोषक तत्व मिलते हैं।

बालों को झड़ने से रोकने के लिए क्या खाएं और क्या न खाएं – Diet for Hair Fall Treatment in Hindi

जिस तरह पौष्टिक भोजन हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है, उसी तरह बालों को पोषण देने के लिए भी पौष्टिक भोजन आवश्यक है। यहां हम जानते हैं कि हमारे बालों को नहीं गिरना चाहिए, इसके लिए क्या खाना चाहिए और क्या नहीं।

भोजन में करें शामिल :

  • पालक
  • शकरकंद
  • अखरोट
  • गाजर
  • अंडा
  • बादाम
  • केला

इन्हें कहें न :

  • शक्कर युक्त पेय पदार्थ
  • अत्याधिक मीठा
  • शराब
  • जंक फूड
  • अधिक चाय व कॉफी

आगे हम जानेंगे कुछ अन्य उपायों के बारे में, जो हमारे बालों के लिए फ़ायदेमंद साबित हो सकते हैं।

बालों को झड़ने से रोकने के कुछ और उपाय – Hair Fall Tips in Hindi

बालों के झड़ने को रोकने के लिए घरेलू उपचार और संतुलित आहार के अलावा, कुछ अन्य टिप्स हैं जिनका पालन करके हम स्वस्थ और लंबे बाल पा सकते हैं। यहां हम आपको बता रहे हैं कि बालों की सेहत के लिए क्या करें और क्या नहीं।

क्या न करें :

हेयर कलर से परहेज :बाजार में मिलने वाले हेयर कलर में कई तरह के केमिकल पाए जाते हैं, जो बालों के लिए अच्छा नहीं है। बार-बार हेयर कलर करने से बाल टूटने लगते हैं। साथ ही उनकी प्राकृतिक चमक भी गायब हो जाती है।

धूम्रपान है हानिकारक :धूम्रपान किसी भी मायने में स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। सिगरेट में निकोटीन, कार्बन मोनो ऑक्साइड और अन्य हानिकारक रसायन होते हैं। जब हम धूम्रपान करते हैं, तो ये रसायन हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं और बालों के रोम को प्रभावित करते हैं, जिससे बाल झड़ने लगते हैं। सिगरेट में प्रो-ऑक्सीडेंट होते हैं, जो शरीर में प्रो-इंफ्लेमेटरी को बढ़ाते हैं, जो बालों के लिए हानिकारक है।

गर्म पानी से न धोएं बाल : ज्यादा गर्म पानी से बाल धोने से बाल रूखे और बेजान हो जाते हैं। आवश्यक तेल गर्म पानी के साथ सिर से हटा दिया जाता है। इसलिए, गर्म पानी के बजाय, बालों को गुनगुने या ताजे पानी से धोना चाहिए।

क्या करें :

खूब पानी पिएं : पानी जितना पिया जाए, कम है। ऐसा कहा जाता है कि व्यक्ति को दिन भर में आठ-दस गिलास पानी पीना चाहिए। यह न केवल हमारे पाचन में सुधार करता है, बल्कि हमारे चेहरे को हर समय तरोताजा रखता है। इसके अलावा, पानी पीने से भी स्कैल्प के बाल स्वस्थ रहते हैं।

व्यायाम :नियमित व्यायाम से शरीर में रक्त का संचार बढ़ता है और ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा सिर तक पहुंचती है, जिससे बालों का झड़ना कम होता है। यह भी कहा जाता है कि अगर आप स्वस्थ रहना चाहते हैं, तो आपको रोजाना 15 से 30 मिनट तक व्यायाम करना चाहिए।

सिर को रखें साफ :गंदे सिर में संक्रमण की उच्च संभावना है। इसलिए निश्चित समय पर सिर को अच्छे शैम्पू से धोना चाहिए, ताकि डैंड्रफ जैसी समस्या न हो। इसके अलावा, समय-समय पर बाल कटवाना भी आवश्यक है।

मसाज है ज़रूरी : सप्ताह में एक बार गुनगुने तेल से सिर की मालिश करनी चाहिए। इससे बालों को निश्चित पोषण मिलता है। ध्यान रखें कि मालिश हल्के हाथों से बालों की जड़ों में करें। मालिश के एक घंटे बाद बालों को शैम्पू से धोना चाहिए। इस बीच, बालों को शॉवर कैप से ढक दें ताकि धूल बालों से न चिपके।

One thought on “Hair Fall Tips and Treatment at Home in Hindi-बाल झड़ने से रोकने के लिए 20 आसान घरेलू उपाय

  • 15th December 2019 at 10:47 am
    Permalink

    Super article

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *