सफेद बालों से छुटकारा पाने के घरेलू इलाज – White Hair Treatment at Home in Hindi

सफेद बाल व्यक्तित्व को बिगाड़ देते हैं। आज के जीवन में, तनाव और प्रदूषण समय से पहले बालों को सफेद कर देते हैं।हर किसी का सपना होता है कि वह सुंदर और जवान दिखे, लेकिन शरीर में हुए कुछ अनचाहे बदलाव सुंदरता को बिगाड़ देते हैं। उम्र से पहले सफेद बालों की समस्या एक ऐसी ही समस्या है। आजकल यह युवाओं में गंभीर चिंता का विषय है। खासकर, यह समस्या महिलाओं को अधिक परेशान करती है।

Also Read:मधुमेह टाइप 1 कारण, लक्षण और उपचार-Diabetes Type 1 Causes, Symptoms and Treatment

सफेद बाल आमतौर पर 30 साल की उम्र के बाद शुरू होते हैं, लेकिन आधुनिक और अनियंत्रित जीवनशैली के कारण कम उम्र में ही यह सफेद बाल दिखने लगते हैं। इस सफेदी को छिपाने के लिए कई लोग बालों में रंग लगाते हैं। हालांकि, यह कुछ समय के लिए सफेद बाल छिपाता है, लेकिन अन्य समस्याओं के जोखिम को बढ़ाता है। इसके लिए हम सभी कई महंगे शैम्पू और हेयर प्रोडक्ट खरीदते हैं, लेकिन अंतर कम होता है। आपको बता दें कि बालों के सफेद होने के एक या दो नहीं बल्कि चार कारण हो सकते हैं जैसे मेलेनिन की कमी, आपके जीन की कमी, विटामिन बी -12 और थायरॉयड ग्रंथि में समस्याएं। इन कारणों से आपके खोपड़ी के बाल समय से पहले सफेद हो जाते हैं। लेकिन आप नीचे दिए गए आसान तरीकों से उन्हें फिर से काला कर सकते हैं।

सफेद बाल होने के कारण – What Causes White Hair

नई कोशिकाओं की वृद्धि के साथ, बालों के रोम पुराने कोशिकाओं को बाहर निकालते हैं, यह बालों के विकास की प्रक्रिया है। यह प्रक्रिया तीन चरणों को पूरा करती है, जिसमें एनाजेन (ग्रो), कैटजेन (स्टॉप) और टेलोजेन (फॉल) शामिल हैं। टेलोजन के बाद ही नए बालों के बढ़ने की प्रक्रिया फिर से शुरू होती है। बाल उगाने के दौरान उन्हें रंगद्रव्य से रंग मिलता है। उम्र के साथ, बालों में पिगमेंट की मात्रा कम होने लगती है और परिणामस्वरूप बाल सफेद होने लगते हैं।

Also Read:Definition of diabetes-मधुमेह की परिभाषा

यह थी बाल सफेद होने की सामान्य प्रक्रिया। नीचे जानिए इसके असामान्य कारकों के बारे में :

  1. अनुवांशिकता:असमय बालों के सफेद होने का एक कारण आनुवंशिकता भी है। यह कारक निर्धारित करता है कि आपके बाल किस उम्र में पिगमेंट्स खोना शुरू कर देंगे।
  2. मेलानिन की कमी :मेलेनिन एक प्राकृतिक वर्णक है जो अधिकांश जीवों में पाया जाता है। सही पोषण की कमी के कारण शरीर में इसकी कमी होने लगती है और परिणामस्वरूप बाल सफेद होने लगते हैं।
  3. चिकित्सीय स्थिति : थायराइड, विटामिन-बी 12 की कमी और पिट्यूटरी ग्रंथियों में समस्या के कारण भी बालों के सफेद होने की संभावना बढ़ जाती है।
  4. तनाव : बालों के सफेद होने का एक कारण तनाव भी है। तनाव से शरीर बुरी तरह प्रभावित होता है, जिसका बालों पर सफेद होने का भी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।
  5. रसायन : केमिकल युक्त शैंपू, साबुन और हेयर डाई आदि के इस्तेमाल से बाल सफेद हो सकते हैं। एलर्जी के कारण भी यह समस्या हो सकती है।
  6. अन्य कारण : बालों के सफेद होने के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें प्रदूषण, जलवायु में बदलाव और हेयर डाई आदि शामिल हैं।

आगे हम जानेंगे उन घरेलू उपायों के बारे में, जो बालों को असमय सफेद होने से रोक सकते हैं।

Also Read:केला की पोषण और स्वास्थ्य लाभ-Banana Nutrition and Health Benefits

सफेद बालों का घरेलू इलाज – Home Remedies for White Hair

आप आधुनिक दवाओं के माध्यम से भी बालों की सफेदी का इलाज कर सकते हैं, लेकिन साइड इफेक्ट का खतरा अधिक है। इसलिए, इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए, आप यहाँ बताए गए घरेलू उपचारों को अपना सकते हैं:

1. आंवला

सामग्री

  • तीन-चार आंवलें
  • एक कप नारियल का तेल

कैसे करें इस्तेमाल

  • आवंलों को धोकर छोटा-छोटा काट लें।
  • अब नारियल के तेल के साथ कटे हुए आंवलों को 10 मिनट तक उबालें।
  • 10 मिनट बाद किसी जार में इस मिश्रण को रख दें।
  • रोजाना दो चम्मच इस मिश्रण से स्कैल्प की मसाज करें।
  • लगभग एक-दो घंटे बाद बालों को शैंपू से धो लें।
  • हफ्ते में दो-चार बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

कैसे है लाभदायक

आंवला बालों के लिए टॉनिक का काम करता है। इसमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है, जो इसे एक प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट एजेंट बनाता है। बालों के लिए इसके कई फायदे हैं, यह क्षतिग्रस्त बालों की मरम्मत करता है और साथ ही बालों में रंजकता की मात्रा को भी विकसित करता है, जिससे बालों को प्राकृतिक रंग मिलता है। बालों के सफेद होने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

Also Read:Importance of Health-स्वास्थ्य का महत्व

इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट सफेद बालों की कोशिकाओं को पुनर्जीवित करते हैं, इससे बाल मजबूत होते हैं। इसके कारण बालों की सभी समस्याएं जैसे बाल सफेद होना, बालों का गिरना, टूटना और पतले होने की समस्या धीरे-धीरे कम हो जाती है। बेहतर परिणाम के लिए मेंहदी में सूखे आंवले का पाउडर मिलाएं और इसे स्कैल्प और बालों पर लगाएं।

2. करी पत्ता

सामग्री

  • 12 करी पत्ते
  • तीन चम्मच नारियल का तेल

कैसे करें इस्तेमाल

  • नारियल तेल के साथ करी पत्तों को 10 मिनट तक उबालें।
  • तेल को छान लें और ठंडा होने दें।
  • अब तेल से स्कैल्प की अच्छी तरह मसाज करें।
  • एक घंटे बाद बालों को शैंपू से धो लें।
  • हफ्ते में दो बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

कैसे है लाभदायक

आप सफेद बालों के लिए घरेलू उपाय के रूप में करी पत्ते का उपयोग कर सकते हैं। करी पत्ते बालों में मेलेनिन रंजकता को बढ़ाने में मदद करते हैं। करी पत्ते विटामिन बी से भरपूर होते हैं, जो बालों के विकास में मदद करता है। आप असमय बालों की सफेदी से छुटकारा पाने के लिए करी पत्ते का उपयोग कर सकते हैं।

Also Read:Health And Fitness-स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती

तरीका 2 : कढ़ी के पत्तों में विटामिन बी 1, बी 3, बी 9 और सी होता है। इसके अलावा इसमें आयरन, कैल्शियम और फॉस्फोरस भी पाए जाते हैं। इस कारण से, यह आपके बालों को ताकत देता है और इसे पतला होने से रोकता है। इसके लिए, करी पत्ते के गुच्छे को धूप में सुखाने के बाद, इसे एक कटोरी नारियल के तेल में मिलाएं और इसे 10 मिनट तक पकाएं। ठंडा होने के बाद इस तेल को मलें और हर हफ्ते मालिश करें। आप चाहें तो चाय बनाकर पी सकते हैं। इसके लिए करी पत्ते के 10 से 15 पत्तों को अच्छी तरह से धो लें और 5 मिनट के लिए पानी में उबालें। इसे एक कप में डालें, इसमें आधा नींबू का रस और थोड़ी सी चीनी मिलाएं और इसे पी लें।

3. हीना

सामग्री

  • पांच चम्मच हीना पाउडर
  • एक चम्मच कॉफी पाउडर
  • एक कप पानी

कैसे करें इस्तेमाल

  • कॉफी पाउडर को पानी में अच्छी तरह मिला लें।
  • अब कॉफी को हीना पाउडर में मिलाएं।
  • अब यह मिश्रण बालों पर लगाएं।
  • तीन घंटे बाद बालों को शैंपू से धो लें।
  • इस को तीन हफ्तों में एक बार लगाएं।

कैसे है लाभदायक

बालों की सफेदी को छिपाने के लिए हीना एक प्रभावी तरीका है। यह बालों के सफेद हिस्सों को हल्का लाल रंग देता है, जिससे सफेदी छिप जाती है। कॉफी और हीना का मिश्रण बालों को रंगने की एक हर्बल विधि है। हीना बालों को मुलायम बनाने का काम भी करती है। केमिकल युक्त रंग के बजाय हीना का उपयोग करना अधिक फायदेमंद है।

Also Read:Health And Physical Education-स्वास्थ्य और शारीरिक शिक्षा

4. नारियल का तेल और नींबू का रस

सामग्री

  • दो चम्मच नारियल का तेल
  • दो चम्मच नींबू का रस

कैसे करें इस्तेमाल

  • नारियल के तेल को नींबू के रस के साथ गर्म कर लें।
  • अब इस मिश्रण को बालों पर लगाएं।
  • 30 मिनट बाद बालों को शैंपू से धो लें।
  • हफ्ते में दो बार यह प्रक्रिया दोहराएं।

कैस है लाभदायक

आपने देखा होगा कि बहुत कम ही दक्षिण भारतीय लोगों के बाल सफेद होते हैं। अन्य लोगों की तरह, उन्हें समय-समय पर सफेद बालों की समस्या नहीं होती है। इसके पीछे कारण है नारियल तेल और करी पत्ता। आप नारियल के तेल से भी खोपड़ी की लगातार मालिश कर सकते हैं। इसमें करी पत्ता मिलाकर मालिश करने से लाभ होगा। इससे न केवल बाल काले होंगे बल्कि दो मुंहे बाल और बालों का झड़ना भी कम हो जाएगा।
2- नींबू विटामिन बी और सी के साथ-साथ फास्फोरस का भी एक समृद्ध स्रोत है। यह बालों के रोम में वर्णक कोशिकाओं को संतुलित करने का काम करता है। असमय सफ़ेद बालों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप नींबू का उपयोग कर सकते हैं।

Also Read:Health and Family Welfare-स्वास्थ्य और परिवार कल्याण

5. प्याज का रस

सामग्री

  • एक प्याज
  • एक चम्मच जैतून का तेल

कैसे करें इस्तेमाल

  • प्याज को काट लें और जैतून के तेल के साथ मिला लें।
  • अब सूती कपड़े से मिश्रण को निचोड़ें ।
  • इस रस से करीब 10 मिनट तक स्कैल्प की मसाज करें।
  • आधे घंटे बाद बालों को शैंपू से धो लें।
  • यह प्रक्रिया हफ्ते में दो बार दोहराएं।

कैसे है लाभदायक

सफ़ेद बालों के लिए घरेलू उपचार के रूप में प्याज का उपयोग वर्षों से किया जाता रहा है। प्याज का रस उत्प्रेरक से भरपूर होता है, जो एक प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम के रूप में काम करता है। आप असमय सफ़ेद बालों से छुटकारा पाने के लिए प्याज के रस का उपयोग कर सकते हैं।

6. शीशम का तेल

सामग्री

  • दो चम्मच शीशम का तेल
  • दो चम्मच नारियल का तेल

कैसे करें इस्तेमाल

  • शीशम और नारियल के तेल को हल्का गर्म कर लें।
  • अब तेल से 10 मिनट तक स्कैल्प की मसाज करें।
  • अब तौलिये को गर्म पानी में डालकर निचोड़ लें और फिर इससे सिर को 30 मिनट के लिए ढक लें।
  • 30 मिनट बाद बाद बालों को शैंपू से धो लें।
  • यह प्रक्रिया हफ्ते में दो बार करें।

कैसे है लाभदायक

सफेद बालों की समस्या के लिए आप शीशम के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह एक प्राकृतिक हर्बल रंग है, जो एक एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। इससे आप सफेद बालों की समस्या से राहत पा सकते हैं। आप इसे नारियल तेल के साथ उपयोग कर सकते हैं जैसा कि वर्णित है।

Also Read:Health Awareness-स्वास्थ्य जागरूकता

7. अरंडी और सरसों का तेल

सामग्री

  • एक चम्मच अरंडी का तेल
  • दो चम्मच सरसों का तेल

कैसे करें इस्तेमाल

  • अरंडी और सरसों के तेल को मिलाकर गर्म कर लें।
  • अब स्कैल्प और बालों पर 10 मिनट तक मसाज करें।
  • 30 मिनट बाद बालों को शैंपू से धो लें।
  • हफ्ते में दो-तीन बार यह प्रक्रिया दोहराएं।

कैसे है लाभदायक

आप सफेद बालों के उपचार के लिए अरंडी के तेल का उपयोग कर सकते हैं। नारियल तेल के साथ इसका उपयोग करने से जल्दी फर्क पड़ता है। अरंडी के तेल में ओमेगा -6 फैटी एसिड होता है, जो असमय बालों को सफेद करने से छुटकारा दिलाने का काम करता है। इसमें एक और तत्व होता है जिसे हमैक्टेंट कहा जाता है, जो बालों को मॉइस्चराइज़ करता है।

Also Read:Blood Donation Benefits-रक्तदान लाभ

8. मैथी के बीज

सामग्री

  • दो चम्मच मैथी के बीज
  • कप का एक चौथाई पानी

कैसे करें इस्तेमाल

  • मेथी के बीज को रात भर पानी में रहने दें।
  • बीजों को सुबह पानी के साथ पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट को स्कैल्प और बालों पर लगाएं।
  • 45 मिनट के बाद बालों को शैम्पू और कंडीशनर से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में एक बार करें

कैसे है लाभदायक

मेथी के बीज विटामिन सी, आयरन, पोटेशियम और लाइसिन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। साथ में, वे न केवल बालों को असमय सफेद होने से रोकते हैं, बल्कि खोपड़ी को भी स्वस्थ बनाते हैं। सफेद बालों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप मेथी का उपयोग कर सकते हैं।

9. तुरई

सामग्री

  • सूखी कटी हुई तुरई
  • एक कप नारियल का तेल

कैसे करें इस्तेमाल

  • एक एयर टाइट कंटेनर में नारियल का तेल और सूखा कटा हुआ तुरई डालें।
  • कंटेनर को बंद करें और इसे चार दिनों के लिए छोड़ दें।
  • इसके बाद, कंटेनर से दो चम्मच तेल निकालें और इसे हल्का गर्म करें।
  • अब 15 मिनट के लिए तेल और बालों के साथ खोपड़ी की मालिश करें।
  • अपने बालों पर 30 मिनट के लिए तेल छोड़ दें।
  • अब बालों को शैम्पू और कंडीशनर से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो या तीन बार करें।

कैसे है लाभदायक

सफेद बालों के लिए तुरई टॉनिक की तरह काम करती है, जो गहराई तक जाकर बालों के फॉलिकल्स को पोषित करती है। तुरई में एंजाइम मौजूद होते हैं, जो बालों में पिगमेंट को बढ़ाने का काम करते हैं। यह घरेलू तरीका बालों को स्वस्थ रखने के साथ-साथ बालों के प्राकृतिक रंग को बरकरार रखने में मदद करता है। सफेद बालों की समस्या से निजात पाने के लिए आप तुरई का इस प्रकार प्रयोग कर सकते हैं।

10. ब्लैक टी

सामग्री

  • दो चम्मच ब्लैक टी
  • एक कप पानी

कैसे करें इस्तेमाल

  • काली चाय को एक कप पानी में 10 मिनट तक उबालें।
  • इसके बाद काली चाय को ठंडा होने के लिए रख दें।
  • अब इसे अपने स्कैल्प और बालों पर अच्छे से लगाएं और कुछ मिनट तक मसाज करें।
  • लगभग एक घंटे के लिए बालों पर काली चाय रहने दें।
  • एक घंटे के बाद बालों को शैम्पू और कंडीशनर से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो या तीन बार करें।

कैसे है लाभदायक

असमय सफ़ेद बालों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप काली चाय का उपयोग कर सकते हैं। काली चाय अपने एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण बालों के प्राकृतिक रंग को बनाए रखने में मदद करती है। यह बालों की चमक बढ़ाने और उन्हें स्वस्थ रखने में भी मदद करता है।

11. जवाकुसुम

सामग्री

  • तीन चम्मच सूखे जवाकुसुम के फूल और जवाकुसुम की पत्तियां
  • एक चम्मच आंवला पाउडर

कैसे करें इस्तेमाल

  • पानी से, जवाकुसुम, पत्तियों और आंवला पाउडर के फूलों को मिलाकर एक पेस्ट तैयार करें।
  • अब इस पेस्ट को स्कैल्प और बालों पर लगाएं।
  • पेस्ट को 45 मिनट के लिए सिर पर छोड़ दें।
  • अब बालों को शैम्पू और कंडीशनर से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार दोहराएं।

कैसे है लाभदायक

इस तरह का जावकुसुम बालों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह बालों के रोम को मजबूत करने के साथ-साथ बालों की सफेदी को रोकने का काम करता है। ज़वाकुसुम में कैल्शियम फास्फोरस, लोहा, विटामिन-बी 1, विटामिन-सी, राइबोफ्लेविन और नियासिन होता है, जो एक साथ मिलकर बालों को स्वस्थ बनाते हैं और समय से पहले सफेद होने से रोकते हैं।

2 thoughts on “सफेद बालों से छुटकारा पाने के घरेलू इलाज – White Hair Treatment at Home in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *